कुल्लू
Trending

किसान आर्थिकी की रीढ़, कृषि के लिए देंगे हर संभव प्रोत्साहन: डाॅ. मारकण्डा

उत्पादों के सुचारू विपणन की बनाई व्यवस्था

कुल्लू(नितिन शर्मा)। कृषि, जनजातीय विकास व सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री डाॅ. राम लाल मारकण्डा ने कहा कि प्रदेश की 80 प्रतिशत आबादी कृषि व बागवानी पर निर्भर है, इसलिए यह बहुत आवश्यक है कि किसानों को हर संभव सुविधाएं प्रदान की जाएं। वह मंगलवार को परिधि गृह कुल्लू में पत्रकारों वार्ता को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि लाॅक-डाउन के कारण किसानों के उत्पाद मण्डियों तक पहुंचे, पहले ही दिन से इसपर चिंता की गई। मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने लाॅक-डाउन के कुछ दिन बाद ही कृषि कार्यो को करने की छूट देने का निर्णय लिया और साथ ही तैयार नकदी फसलों को मण्डियों तक पहुंचाने के लिए परमिट जारी करवाए। कृषि कार्यों के दौरान सोशल डिस्टेसिंग मानदण्डों की पालना करने तथा माॅस्क अथवा फेस कवर का प्रयोग करने के लिए किसानों को प्रेरित किया गया। उत्पादों के विपणन के समय किसी प्रकार की असुविधा न हो, इसके लिए ट्रकों व मालवाहक वाहनों के लिए राष्ट्रीय राजमार्गों पर टायर पंक्चर अथवा आॅटो शाॅपस् तथा ढाबों को खोलने की अनुमति प्रदान की गई।
डाॅ. मारकण्डा ने कहा कि दिल्ली की आजादपुर मण्डी केवल तीन घण्टे खुली रहती थी, जिससे हिमाचल प्रदेश से जाने वाली नकदी फसलों को बेचने का समय नहीं मिल पा रहा था। मुख्यमंत्री ने और स्वयं उन्होंने वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से केन्द्रीय कृषि मंत्री से आजादपुर मण्डी को चैबीस घण्टे खुला रखने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि आढ़ती भी प्रदेश में नहीं आ रहे थे, क्योंकि उन्हें इसके लिए शिमला मंे पहले पंजीकरण करवाना पड़ता था। मुख्यमंत्री ने उनके पुराने पंजीकरण का इस साल के लिए सीधे नवीकरण कर दिया और उन्हें बड़ी राहत प्रदान की। वर्तमान में पर्याप्त संख्या में व्यापारी प्रदेश की नकदी फसलों की खरीद के लिए आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि विपणन की व्यवस्था को सुचारू बनाने के लिए प्रदेश के लिए हैल्पलाईन नम्बर 9418003325 जारी किया गया है जो कृषि विपणन बोर्ड के प्रबंध निदेशक का मोबाईल नम्बर है। पैसा सीधे उत्पादकों के खातों में हस्तांतरित हो रहा है।
डाॅ. मारकण्डा ने कहा कि किसानों को किसी प्रकार की दिक्कत पेश आती है तो वह सीधे उनके मोबाईल नम्बर 7018466821 पर सम्पर्क कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि वह हर समय किसानों की समस्याओं के समाधान के लिए तत्पर रहते हैं।
कुल्लू जिला में किसानों को घर-द्वार पहुंचाई 26 लाख पनीरी
कृषि मंत्री ने कहा कि कुल्लू जिला में कृषि विभाग के माध्यम से गांव गांव में 26 लाख पनीरी किसानों को उपलब्ध करवाई गई। इसमें शिमला मिर्च, टमाटर, खीरा, बैंगन, मिर्च इत्यादि अनेक नकदी उत्पाद शामिल हैं। नर्सरियों को इसके लिए परमिट जारी किए गए और किसानों की मांग के अनुरूप उन्हें पनीरी उनके गांव में उपलब्ध करवाई गई।
किसान रथ ऐप को डाउनलोड करें किसान
डाॅ. मारकण्डा ने प्रदेश के सभी किसानो-बागवानों से भारत सरकार द्वारा तेयार की गई ‘किसान रथ ऐप’ को अपने मोबाईल फोन में डाउनलोड करने का आग्रह किया है। ऐप की विशेषता पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि ऐप के साथ 5.70 लाख ट्रक, 20 हजार ट्रैक्टर तथा 14 हजार वाणिज्यिक केन्द्रों का पंजीकरण किया गया है। किसी किसान-बागवान को अपने उत्पादों के विपणन के लिए ट्रक की जरूरत पड़े, या फिर बीजाई के लिए ट्रैक्टर की अथवा कृषि कार्यों से जुड़े किसी उपकरण की आवश्यक हो, तो सीधे इस ऐप के माध्यम से घर बैठे प्राप्त कर सकते हैं। ऐप के माध्यम से न्यूनतम मूल्य पर ये सभी सुविधाएं उपलब्ध हो जाती हैं। उन्होंने किसानों से कहा कि यह ऐप बहुत उपयोगी है, इसलिए आवश्यक तौर पर इसे डाउनलोड करें।
फसलों के नुकसान का खाका तैयार करेगी सरकार
कृषि मंत्री ने कहा कि लाॅक-डाउन के कारण प्रदेश के बाहर मण्डियों की कम उपलब्धता के कारण किसानों की कुछ नकदी फसलों का नुकसान हुआ है जिसमें मुख्यतः ब्राकली व आईसबर्ग शामिल हैं। उन्होंने कहा कि इस संबंध में मुख्यमंत्री से बात की गई है और मुख्यमंत्री ने नुकसान का खाका तेयार करने को कहा है और भरपाई करने पर पर विचार किया जा रहा है।
उन्होंने कहा कि निर्धारित मूल्यों से अधिक दाम पर फल-सब्जियां बेचने वालों पर जिला प्रशासन कड़ी नजर रखें। किसानों को मिले मूल्य और बाजार में बिक्री में ज्यादा अंतर नहीं होना चाहिए, इससे किसानों को नुकसान का अंदेशा रहता है। उन्होंने कहा कि फल-सब्जी विक्रेता को दुकान पर मूल्य सूची हर रोज लगानी अनिवार्य है और संबंधित विभाग को इस बात को सुनिश्चित करना चाहिए।
291 किसानों को पहुंचाया लाहौल घाटी, 63 वाहन आज रवाना
डाॅ. मारकण्डा ने कहा कि लाहौल का एकमात्र बीजाई सीजन जोरों पर है और ऐसे में कुल्लू मेें फंसे सभी किसानों को घाटी पहुंचाना उनकी प्राथमिकता है। उन्होंने बताया कि 291 किसानों को रोहतांग दर्रे से लाहौल पहुंचाया जा चुका है। आज 52 टैैक्सियां तथा 11 निजी वाहनों ने रोहतांग दर्रा पार किया। लाहौल घाटी प्रवेश करने वाले सभी लोगों के स्वास्थ्य की जांच कोठी तथा कोकसर में की जा रही है ताकि कोई एक भी संदिग्ध अथवा बीमार व्यक्ति घाटी में न जाए। उन्होंने कहा कि पांगी घाटी के लोगों को सड़क बहाल होते ही भेजने की व्यवस्था की जाएगी। वर्तमान में लंबे व दुर्गम रास्ते में खाने-पीने व ठहरने की कोई व्यवस्था नहीं है, इसलिए पांगी के लोगों को रास्ता खुलने तक इंतजार करना होगा।
उन्होंने घाटी के लोगों से पुनः अपील की है कि अपने साथ किसी मजदूर को न लेकर जाएं। ऐसा करने पर नियमों में कड़ी कार्रवाई का प्रावधान है। उन्होंने कहा कि जो घाटी में मजदूर मौजूद हैं, उन्हीं से कृषि अथवा निर्माण कार्यों को करवाएं। कोरोना संकट के चलते बाहरी प्रदेशों अथवा जिलों से बहरहाल किसी भी कामगार को घाटी में जाने की अनुमति नहीं दी जा सकती। घाटी में प्रवेश करने वाले लाहौल के लोगों को भी अपने घरों में 14 दिनों के लिए क्वारंटीन किया जा रहा है।
लाहौल-स्पिति में घर-घर बांटे माॅस्क और सैनेटाईजर
जनजातीय विकास मंत्री ने कहा कि जिला की आबादी केवल 31247 है और उन्होंने घर-घर में 20 हजार माॅस्क तथा 15000 सैनेटाईजर व 16000 साबुन लोगों को बांटे हैं। इसके अलाव, घाटी में अनेक महिला मण्डल माॅस्क बनाने के कार्य में जुटी हैं और पंचायत स्तर पर लोगों को उपलब्ध करवाए जा रहे हैं।
सोशल डिस्टेसिंग अपनाने की किसानों से अपील
डाॅ. मारकण्डा ने किसानों व बागवानों से खेतों व बागानों में काम करते समय अथवा अपने उत्पादों का विपणन करते समय एक से दो गज की सामाजिक दूरी बनाने की अपील की है। उन्होंने कहा कि कोरोना का संकट लगातार बढ़ रहा है और ऐसे में सामाजिक दूरी के मानदण्डों को अपनाना तथा घर से निकलने पर माॅस्क अथवा फेस कवर लगाना दोनों बहुत महत्वपूर्ण हैं। उन्होंने कहा कि इन दो नियमों का पालन करने मात्र से व्यक्ति कोरोना वायरस के संक्रमण से बच सकता है।

Moniker Resort Manali, Himachal
Tags
Show More

नितिन शर्मा

नितिन शर्मा मनाली के वरिष्ठ पत्रकार हैं। नितिन पिछले करीब 15 साल से पत्रकारिता में हैं। इस दौरान नितिन ने विभिन्न मुद्दों पर प्रखरता से आवाज उठाई है। अब नितिन एक नई सोच नई पहल के साथ आपके बीच मनाली टुडे वेबसाइट लेकर आए हैं। उम्मीद है आपको उनका यह प्रयास पसंद आएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Open chat
1
नमस्ते ! हमारा व्हाट्सएप नंबर यह है यदि आपके पास कोई ख़बर हो तो हमारे व्हाट्सएप पर जरूर शेयर करें- 094182 05656