कुल्लूक्राइम
Trending

रक्त से लाल होने लगी कुल्लू मनाली की सड़क तीखे मोड़ बने जानलेवा, हर रोज़ हादसे का शिकार हो रहे

रक्त से लाल होने लगी कुल्लू मनाली की सड़क तीखे मोड़ बने जानलेवा, हर रोज़ हादसे का शिकार हो रहे

रक्त से लाल होने लगी कुल्लू मनाली की सड़क
तीखे मोड़ बने जानलेवा, हर रोज़ हादसे का शिकार हो रहे वाहन चालक
मनाली।देश-विदेश में पर्यटन और बागवानी को लेकर मशहूर कुल्लू मनाली घाटी में सड़कों की हालत बेहद खराब है। कुल्लू मनाली नेशनल हाइवे का निर्माण कार्य होने के बाद यह सड़क रक्त से लाल होने लगी है। एनएचआई द्वारा तैयार की जा रही कुल्लू मनाली सड़क में कई जगह तीखे मोड़ बना दिये है जो अब जानलेवा साबित होने लगे है। हर रोज वाहन चालक इन तीखे मोड़ो का शिकार हो रहे है। कुल्लू से मनाली तक वाशिंग, बन्दरोल, अपर बन्दरोल, रायसन, कटराई, पतलीकूहल, क्लाथ, आलू ग्राउंड, रांगड़ी व बस स्टैंड के पास अधिक दुर्घटना हो रही है। इस स्थानों पर कई जगह तीखे मोड़ बनाए गए है जो दुर्घटना को बढ़ावा दे रहे है। पतलीकूहल में एक ही स्थान पर तीन बार वाहन दुर्घटनाग्रस्त हुए। कई जगह सड़क किनारे पैरापिट और क्रैश बैरियर नही बनाए गए है। मनाली कुल्लू मार्ग पर लगभग 12 स्थानों को ब्लैक स्पॉट चिन्हित किया है। वाहन चालक नरेंद्र, सुरेश, प्रीतम, पूर्ण व सोनम का कहना है कि एनएचआई द्वारा किया गया कुल्लू मनाली का सड़क निर्माण उनकी समझ से परे है। उनका कहना है कि नाम नेशनल हाइवे और काम सम्पर्क सड़क जैसा भी नही हुआ है। तीखे मोड़ यमराज का काम कर रहे है। सड़क खुली होने से तेज गति से चलने वाला वाहन चालक तीखे मोड़ में धोखा खा रहा है और हादसे का शिकार हो रहा हैं। इन वाहन चालकों ने बताया कि पतलीकूहल में ही चार बार वाहन दुर्घटनाग्रस्त हो चुके हैं। इन वाहन चालकों ने एनएचएआई द्वारा तैयार तीखे मोड़ो को ही दुर्घटना होने का कारण बताया है। होटल एसोसिएशन मनाली सहित, पर्यटन से जुड़े समाजिक संगठन एनएचएआई की कार्यप्रणाली पर सही तरीके से काम न करने का आरोप लगा चुके है। इन वाहन चालकों में सरकार को इस ओर ध्यान देने की बात कही और तीखे मोड़ व चिन्हित ब्लैक स्पॉट को सुरक्षित बनाने का आग्रह किया।

Moniker Resort Manali, Himachal
Tags
Show More

नितिन शर्मा

नितिन शर्मा मनाली के वरिष्ठ पत्रकार हैं। नितिन पिछले करीब 15 साल से पत्रकारिता में हैं। इस दौरान नितिन ने विभिन्न मुद्दों पर प्रखरता से आवाज उठाई है। अब नितिन एक नई सोच नई पहल के साथ आपके बीच मनाली टुडे वेबसाइट लेकर आए हैं। उम्मीद है आपको उनका यह प्रयास पसंद आएगा।

Related Articles

2 Comments

  1. बिल्कुल सही कहा मेरा खुद नंगाबाग के नजदीक इन्हीं मोड़ों के कारण एक्सीडेंट हो गया था नमन होटल अखाड़ा वालों की कार से ।मरते मरते बचा।

    दीपक कुल्लुवी

Leave a Reply to Manali Today Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Open chat
1
नमस्ते ! हमारा व्हाट्सएप नंबर यह है यदि आपके पास कोई ख़बर हो तो हमारे व्हाट्सएप पर जरूर शेयर करें- 094182 05656